सिंधिया-विजयवर्गीय के बाद शिवराज-ताई की मुलाकात – सुमित्रा महाजन के लिए CM ने इंदौर भेजा हेलीकॉप्टर

पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन (ताई) ने बुधवार को भोपाल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की। ताई के लिए मुख्यमंत्री ने अपना सरकारी हेलीकॉप्टर इंदौर भेजा था। जिसमें बैठकर वे भोपाल आईं। ताई और सीएम के बीच कई मुद्दों पर लंबी बातचीत हुई। इसके बाद ताई गुरुवार को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा से भी मिलीं। इस मुलाकात को औपचारिकता बताते हुए ताई के करीबियों ने दावा किया है कि इंदौर में अहिल्या स्मारक ट्रस्ट के रजिस्ट्रेशन, जमीन आदि को लेकर चर्चा हुई है।

ताई की सीएम और वीडी शर्मा से मुलाकात को लेकर कई तरह की सियासी चर्चाएं हो रही है। दरअसल पिछले दिनों कैलाश विजयवर्गीय और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की जुगलबंदी देखी गई। दोनों एक-दूसरे को प्रमोट करते दिखे। पश्चिम बंगाल के प्रभार से फ्री होकर विजयवर्गीय अभी इंदौर में ही हैं। ऐसे में इंदौर का नया पावर सेंटर कहां होगा, यही अटकलें ज्यादा हैं। ऐसे में ताई की इन मुलाकातों के कई सियासी मायने निकाले जा रहे है।

अहिल्या ट्रस्ट के बहाने मराठी वोट बैंक पर नजर
पिछले साल सीएम शिवराज ने इंदौर में अहिल्या स्मारक बनाने की घोषणा की थी। इसके लिए ताई को सीएम से ट्रस्ट और जमीन आवंटन के बारे में चर्चा करना थी। लेकिन बताया यह भी जा रहा है कि पार्टी अहिल्या स्मारक के बहाने मराठी वोट बैंक को साधे रखना चाहती है। मुख्यमंत्री ने उन्हें भरोसा दिलाया कि जल्द ही इस काम को गति दी जाएगी।

राजनीतिक जानकार बताते हैं कि इंदौर में मराठा और महाराष्ट्रीयन दोनों वोट बैंक हैं। सिंधिया मराठा हैं, तो महाजन महाराष्ट्रीयन। दोनों की मराठी वोट बैंक में पैठ है। इंदौर की पॉलिटिक्स में यदि विजयवर्गीय और सिंधिया का पावर सेंटर आकार लेता है तो शिवराज सुमित्रा महाजन के जरिए अपनी ताकत भी हमेशा की तरह बरकरार रख सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने ताई को दिया था निमंत्रण
बुधवार को मुख्यमंत्री दोपहर को ओंकारेश्वर से खजुराहो जाने के लिए इंदौर पहुंचे थे। सूत्रों के मुताबिक इससे पहले ही मुख्यमंत्री और ताई के बीच सौजन्य भेंट को लेकर चर्चा हो चुकी थी, जिसमें मुख्यमंत्री ने उन्हें भोपाल निवास पर आमंत्रित किया था।

दोपहर को मुख्यमंत्री के निर्देश पर महाजन के साथ उनके निज सहायक राजेश मिश्रा व ताई के खास समर्थक व पूर्व एमआईसी सदस्य सुधीर देड़गे उसी हेलीकॉप्टर से भोपाल पहुंचे। फिर शाम को 7 बजे मुख्यमंत्री जब भोपाल लौटे तो दोनों के बीच करीब एक घंटा चर्चा हुई।

इधर जबर्दस्त राजनीतिक सरगर्मी व समीकरण
महाजन की मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद राजनीतिक हलकों में काफी सरगर्मी है। कई प्रकार की अटकलें व कयास लगाए जा रहे हैं। इसे नए राजनीतिक समीकरणों से जोड़कर देखा जा रहा है। दरअसल निगम चुनाव के पहले से लेकर हाल ही में मुख्यमंत्री लवकुश चौराहे पर 6 लेन फ्लाईओवर के भूमिपूजन में आ चुके हैं। इतनी बार आने के बावजूद महाजन ने किसी कार्यक्रम में शिरकत नहीं की।

पिछले माह 10 दिन में मुख्यमंत्री दो बार इंदौर के कार्यक्रमों में आए, तब भी महाजन की अनुपस्थिति चर्चा का विषय रही। हालांकि इस दौरान महाजन का स्वास्थ्य भी ठीक नहीं था और वह एक प्राइवेट अस्पताल में एडमिट भी रही।

इस बीच वरिष्ठ नेता व राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के घर केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की मुलाकात और भोजन, फिर प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा का पितृ पर्वत पर जाकर पूजा-अर्चना और विजयवर्गीय से चर्चा की भी काफी सरगर्मी रही। इसी दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का भोपाल दौरा भी हुआ। इन समीकरणों से राजनीति अटकलें तेज हुई तथा प्रदेश में नेतृत्व पर परिवर्तन को लेकर भी हलचल हुई। हालांकि अभी सबकुछ ‘ठीक’ है, लेकिन महाजन की मुख्यमंत्री से मुलाकात ने नई राजनीतिक चर्चाओं का माहौल बना दिया है।

Leave a Reply