‘टाइगर ज़िंदा है’, मध्य प्रदेश निकाय चुनाव के नतीजों के बाद ज्योतिरादित्य के इस बयान की चर्चा क्यों ?

मध्य प्रदेश नगर निकाय चुनावों के नतीजे आने के बाद एक ओर जहां पीएम मोदी समेत बीजेपी के कई आला नेता एक-दूसरे को बधाई दे रहे हैं वहीं कांग्रेस को भी एक दूसरी वजह से तंज़ करने का मौका मिल गया है.

दरअसल, कांग्रेस ने बीजेपी के केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य का गढ़ माने जाने वाले ग्वालियर की सीट पर कब्ज़ा कर लिया है.

ग्वालियर सीट पर जीत की ख़ुशी ज़ाहिर करते हुए कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा है, “ग्वालियर नगर निगम चुनाव में कांग्रेस की जीत से ज़्यादा खुशी मुझे किसी और चीज़ में नहीं हुई. शानदार प्रदर्शन! भाजपा यहां ‘क्रैश’ होकर गिर गई है.”

भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने भी एक के बाद एक कई ट्वीट किये हैं.

ज्योतिरादित्य सिंधिया जिस समय कांग्रेस नेता हुआ करते थे, उस समय का एक वीडियो शेयर करते हुए श्रीनिवास ने लिखा है, “Tiger ने अपने संकल्प को पूरा करने की शुरुआत, ग्वालियर से कर दी है.”

दरअसल, इस वीडियो में सिंधिया बीजेपी के ख़िलाफ़ बयानबाज़ी करते हुए कह रहे हैं, “…भाजपा को मध्य प्रदेश से उखाड़कर हम फेकेंगे.”

ज्योतिरादित्य के एक अन्य बयान का वीडियो शेयर करते हुए श्रीनिवास ने लिखा है,

“बीजेपी ने Tiger खरीदा था! नतीजन, 57 वर्षों बाद ग्वालियर का अपना गढ़ भी BJP गंवा बैठी. संवेदनाएं!!”

ये वीडियो उस समय का जब ज्योतिरादित्य बीजेपी में शामिल हो चुके थे. इसमें सिंधिया कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को चुनौती देते हुए नज़र आ रहे हैं.

सिंधिया कहते हैं, “मैं उन दोनों को कहना चाहता हूं, कमलनाथ जी और दिग्विजय सिंह जी, आप दोनों सुन लीजिए..टाइगर ज़िंदा है.”

श्रीनिवास ने एक अन्य ट्वीट में लिखा है, “बीजेपी के गढ़ ग्वालियर में 57 वर्षों बाद, बीजेपी के गढ़ जबलपुर में 23 वर्षों बाद. जनता ने नफ़रत की राजनीति को नकारते हुए और गद्दारों को सबक सिखाते हुए कांग्रेस पार्टी के महापौर को चुना है. ये दोनों ही जिले मप्र के 4 बड़े महानगरों में शामिल हैं. साफ़ है कि 2023 में फिर कमलनाथ है.”

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने भी दो सीटों पर मिली जीत पर खुशी जताते हुए ट्वीट किया है.

उन्होंने लिखा है, “मप्र नगर निकाय चुनावों में सराहनीय व साहसी प्रदर्शन के लिए मप्र कांग्रेस के सभी नेताओं व कार्यकर्ताओं को बधाई. भाजपा सरकार के चौतरफा हमलों, धन-बल के बावजूद आपकी जी-तोड़ मेहनत ने आज ग्वालियर नगर निगम में 57 साल बाद व जबलपुर में 23 साल बाद कांग्रेस का झंडा गाड़ कर इतिहास रच दिया.”

Leave a Reply