रूस में विपक्षी नेता नवेलनी ने कहा- पुतिन रूस नहीं हैं, युद्ध रोकने के लिए सड़कों पर उतरें लोग

जेल में बंद रूस के विपक्षी नेता एलेक्सी नवेलनी ने कहा है कि रूस अमनपसंद देश बनना चाहता है लेकिन अफसोस बहुत कम लोग अब इसे अमनपसंद देश कहेंगे.

यूक्रेन पर रूस के हमले की चर्चा करते हुए उन्होंने मंगलवार को एक के बाद एक कई ट्वीट किए.

उन्होंने कहा- आइए कम से कम हम डरे और चुप हुए लोगों का देश तो न बनें. हम ऐसे कायरों का देश न बनें जो यूक्रेन के खिलाफ आक्रामक युद्ध पर गौर न करने का बहाना बना ले. उस युद्ध पर जिसने हमारे सनकी जार ने छेड़ रखा है.

उन्होंने कहा कि वे अब इस पर चुपचाप नहीं रह सकते हैं कि सौ साल पहले की छद्दम ऐतिहासिक बकवास घटनाओं को आधार बना कर यूक्रेनी लोगों को मारा जाए और यूक्रेनी आत्मरक्षा में रूसियों को मारें.

नवेलनी ने कहा कि यह 21वीं सदी का तीसरा दशक है और हम खबरों में लोगों को टैंक जलाते और घरों पर बमबारी करते देख रहे हैं.

उन्होंने कहा- अब हम अपने-अपने टीवी पर परमाणु युद्ध शुरू होने वास्तविक ख़तरे देख रहे हैं मैं खुद सोवियत संघ से हूँ. मैं हुआ पैदा हुआ और बचपन से मैं एक वाक्य सुनता आया हूँ- शांति के लिए युद्ध. मैं सभी से अपील करता हूँ कि वह सड़कों पर उतरें ओर शांति के लिए लड़ें .

नवेलनी ने आगे कहा कि पुतिन रूस नहीं है.आज अगर आपको रूस में कुछ भी अच्छा दिखता है, जिस पर आपको गर्व हो तो वो उन लोगों 6824 लोगों की वजह से है जिन्हें क़ैद करके रखा गया है. क्योंकि वे बगैर किसी अपील के ‘युद्ध नहीं चाहिए’ की तख्तियाँ लगाए सड़कों पर उतर पड़े.

नेवेलनी ने कहा- अब हम ज्यादा इंतजार नहीं कर सकते. चाहे अब कहीं भी हों रूस में, बेलारूस में दुनिया के दूसरे देशों में. सप्ताह के हर दिन, सप्ताहंत और छुट्टियों के दिन में दोपहर दो बजे शहर के मुख्य चौराहों पर इकट्ठा हों और और युद्ध के खिलाफ आवाज उठाएं.

उन्होंने यूक्रेन पर रूस के हमले की ओर इशारा करते हुए कहा है कि हर चीज़ की एक क़ीमत होती है और अब 2022 के वसंत में हमें यह क़ीमत चुकानी होगी. हमारे लिए यह क़ीमत और कोई नहीं चुकाएगा. सिर्फ हम युद्ध के ख़िलाफ़ न हों, आइए हम युद्ध के ख़िलाफ लड़ें.

Leave a Reply