इंग्लैंड मैं फिर लगा लॉकडाउन, लीसेस्टर मैं बड़े कोरोना के मामले

दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर जारी है. इंग्लैंड में भी कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. इसको देखते हुए इंग्लैंड के ईस्ट मिडलैंड एरिया लीसेस्टर में दोबारा लॉकडाउन लगा दिया गया है. लीसेस्टर में भारी संख्या में भारतीय मूल के लोग रहते हैं और यहां कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही थी.

लीसेस्टर में गैर-जरूरी सामान की दुकानें 15 जून को खोली गई थीं और अब मंगलवार से ये बंद हो जाएंगी. स्कूल को भी चुनिंदा क्लासेज़ के लिए 1 जून से खोला गया था और अब नए आदेश के बाद गुरुवार से स्कूल से भी बंद हो जाएंगे.

वहीं, पब, रेस्त्रां, लीज़र सेंटर, सिनेमा, धार्मिक स्थल 4 जुलाई से पूरे इंग्लैंड में खुलने वाले थे, लेकिन लीसेस्टर में अब ये बंद रहेंगे. जबतक अति आवश्यक न हो शहर से बाहर जाने पर भी रोक लगा दी गई है और लोगों को घरों में ही रहने की सलाह दी जा रही है. हाउस ऑफ कॉमन में स्वास्थ्य सचिव मैट हैनकॉक ने बताया, ‘हम लीसेस्टर में लोगों को घर में रहने की सलाह दे रहे हैं. हम लीसेस्टर के भीतर और बाहर सभी जरूरी यात्रा के खिलाफ हैं.’

लॉकडाउन के बाद साढ़े तीन लाख लोग घरों में बंद

हैनकॉक ने बताया कि लीसेस्टर में देश के कुल मरीजों के 10 प्रतिशत लोग संक्रमित हैं और हम लॉकडाउन की अगले दो हफ्ते तक समीक्षा करेंगे. हम लॉकडाउन लंबे समय तक लागू नहीं रखेंगे जबतक कि इसकी आवश्यकता न हो.

लीसेस्टर में कई युवाओं को भी कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है. चिंताजनक ये है कि पॉजिटिव पाए गए युवाओं में कोरोना का कोई लक्षण भी नहीं था. ऐसे में युवाओं से वृद्धों में कोरोना वायरस संचारित हो जाता है जो कि उनके लिए जानलेवा भी साबित हो सकता है. लॉकडाउन के फैसले के बाद लीसेस्टर की करीब 3,50,000 आबादी को घर में बंद रहना पड़ेगा. Worldometer के अनुसार, यूके में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3,11,965 पहुंच गई है. इसके अलावा 43,575 लोगों ने कोरोना से अपनी जान गंवाई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *